अल्हम्दुलिल्लाह का हिंदी में अर्थ क्या है


दोस्तो आज हम जानेंगे “अल्हम्दुलिल्लाह” शब्द के बारे में। आपने भी यह शब्द कभी जरूर सुना होगा और एक बार तो यह सुन कर जानने का ख्याल आया होगा कि आखिर इस का मतलब क्या होता है तो चलिए इस के बारे में विस्तार से जानते हैं।

अल्हम्दुलिल्लाह का मतलब क्या होता है

अल्हम्दुलिल्लाह का मतलब क्या होता है

अल्हम्दुलिल्लाह एक अरबी भाषा का शब्द है यह अक्सर शब्द ज्यादातर अर्बी बोलने वाले और मुस्लिम लोगों के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। अल्हम्दुलिल्लाह शब्द अरबी भाषा के तीन शब्दों का सुम्मेल है यह तीन अलग अलग शब्दों से मिलकर बना एक शब्द है।

यह तीन शब्द अल+हमद+लिल्लाह है जिनका मतलब अलग अलग है। दोस्तों हम पहले इन तीन शब्दों का अलग अलग से मतलब समझेंगे।

अल शब्द का अपना कोई खास मतलब नही है लेकिन यह शब्द अंग्रेजी के The शब्द की तरह किसी शब्द के साथ लग कर उसका खास महत्व दर्शाता है।

हमद शब्द का अर्थ प्रशंसा होता है यह किसी चीज़ की तारीफ करने या किसी को सम्मान देने के लिए अरबी में बोला जाने वाला शब्द है।

लिल्लाह शब्द का अर्थ “अल्लाह के लिए”  होता है (मुस्लिम समुदाय में ईश्वर/GOD को अल्लाह कहते हैं)

जब हम इन तीनों शब्दों को मिलाते हैं तो इसका मतलब बनता है – अल्लाह के लिए तारीफ और किसी चीज़ के लिए अल्लाह को श्रेय देना और उनकी स्तुति करना।

जैसे आपने देखा होगा मुस्लिम इस शब्द का प्रयोग तब करते हैं जब वह अल्लाह का धन्यवाद कर रहे होते हैं।

उदहारण : आप किसी मुस्लिम से पूछे कि आप कैसे हो ? तो वह आपको जवाब देगा कि “अल्हम्दुलिल्लाह, मै ठीक हु” (अर्थात – ईश्वर की कृपा से, मैं ठीक हूँ)

इसमे वो अपने बारे मैं बताते हुए अल्लाह का शुक्रिया कर रहा है। जैसे हिन्दुओं में कहते हैं कि “भगवान की दया से सब कुशल मंगल है” तो वैसे ही इन शब्दों में अल्लाह की प्रशंसा की गई है।

हम उम्मीद करते हैं कि आप को अल्हम्दुलिल्लाह शब्द का मतलब पता चल गया होगा।

 

शेयर करें

Leave a Comment