तहसीलदार क्या होता है | कार्य | सैलरी


आज के समय मे हर कोई सरकारी नोकरी पा कर उच्च दर्जे के पद पर स्थापित होना चाहता ओर ऐसे ही एक पद है तहसीलदार का जिसके बारे मैं हम आज आपको बताएंगे कि एक तहसीलदार कैसे बने और इसके लिए कौन सी परीक्षा होती है, तहसीलदार का क्या काम होता है और वेतन कितना होता है।

Tahsildar work | salary | meaning in hindi

तहसीलदार क्या होता है?

हर राज्य मैं बहुत सारे तहसील होते हैं और हर तहसील का एक तहसीलदार होता है, तहसीलदार अपनी तहसील का राजस्व प्रभारी होता आसान भाषा मे समझाये तो तहसील का मुखिया/मुख्य अधिकारी तहसीलदार होता है बाकी तहसील अधिकारी इससे छोटे पद पर होते है।

तहसीलदार का क्या काम होता है?

तहसीलदार के कार्य भूमि से सम्बंधित और अन्य तहसील के अधिकारियों का परीक्षण करना होते है हम आपको इसके बारे मे विस्तार से बताते हैं, भूमि से संबंधित विवाद सुनना तथा समस्या का हल करना, पटवारी द्वारा किए कार्यो का परीक्षण करना यह सुनिश्चित करना कि भूमि अपडेट सही से रखा गया है या नही, भूमि राज्यों का समुचित संग्रह सुनिश्चित करना यह सुनिश्चित करता है कि किसान अपनी भूमि का रिकॉर्ड आसानी से प्राप्त कर सके, किसी भी कुदरती आपदा या बाधाओं से होने वाली हानि के लिए तत्काल राहत अभियान प्रारम्भ करना भी तहसीलदार का कार्य है। और भी जो तहसील से जुड़े अन्य कार्य तहसीलदार की देख रेख मैं किये जाते है।

तहसीलदार का वेतन कितना होता है?

तहसीलदार का वेतन 15600 से 39100 होता है और इसके साथ ही कई अन्य सुविधाएं मिलती है।

तहसीलदार बनने के लिए आयु सीमा और योग्यता क्या होनी चाहिये ?

तहसीलदार की परीक्षा के लिए आपकी आयु सीमा 21 से 45 वर्ष तक होनी चाहिए और आपकी योग्यता स्नातकोत्तर (Post Graduation) होनी चाहिए।

तहसीलदार कैसे बने?

तहसीलदार बनने के लिए आपका किसी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक(Graduation) या स्नातकोत्तर(Post Graduation) होना जरूरी है उसके बाद ही आप तहसीलदार की परीक्षा के लिए तैयार होते हो। तहसीलदार की परीक्षा देने के लिए आपकी आयु भी उचित होनी चाहिए। तहसीलदार बनने की परीक्षा आपकी तीन चरणो में होती है।

  1. जांच परीक्षा
  2. मुख्य परीक्षा
  3. इंटरव्यू

इन तीनो परीक्षा को क्वालीफाई करके आप तहसीलदार बन सकते हो।

शेयर करें

Leave a Comment