जिले का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है


आपने बहुत सारे प्रशासनिक अधिकारियों के बारे में सुना होगा जैसे IPS, SDM, DM, IPS आदि लेकिन कभी आपने यह सोचा है कि इनमें से जिले का सर्वोच्च प्रशासनिक अधिकारी कौन है, अगर आप भी इस बारे में नही जानते हो और जानना चाहते हो तो इस आर्टिकल के माध्यम से हम यह जानकारी आपसे शेयर कर रहे हैं।

jile ka sabse bada adhikari

 

जिले का सर्वोच्च प्रशासनिक अधिकारी कौन होता है

वैसे तो ज़िला स्तर पर बहुत सारे प्रशासनिक अधिकारी नियुक्त होते हैं, जो हमारे लिए कार्य करते हैं और जिला स्तर पर जुर्म को रोकना, कानूनी व्यवस्था का नियंत्रण रखते हैं, जिनके बारे में आप जानते होंगे, लेकिन कभी आपसे कोई पूछ ले या फिर आपको किसी परीक्षा में यह प्रश्न आ जाए कि जिले का सर्वोच्च प्रशासनिक अधिकारी कौन होता है ? तो अगर आपको पता नही होगा तो आप उसका जवाब नही दे पाएंगे।

जिले का सर्वोच्च प्रशासनिक अधिकारी DM होता है जिसका पूरा नाम District Magistrate है डीएम का पद जिला स्तर पर सबसे बड़ा पद होता है जिसका पूरे जिले के अधिकारियों पर नियंत्रण होता है।

DM का कार्य पूरे जिले में कानूनी व्यवस्था को बनाए रखने का होता है, इसके इलावा जेल के रखरखाव का काम देखता है और आधिकारिक तौर पर छानबीन करने का आदेश पारित करता है। ज़िला स्तर से सबंधित और भी बहुत कार्यों की निगरानी और नियंत्रण रखने की शक्ति DM के पास होती है जिसके तहत वह कार्य करता है।

अगर किसी ज़िले में कुछ बड़ी आपराधिक गतिविधि होती है तो उस पर कार्यवाही के आदेश DM द्वारा दिए जाते हैं। अगर ज़िले में कोई अधिकारी अपना काम सही ढंग से नही करता तो उस पर कार्यवाही करने तक कि शक्ति भी DM के हाथों में होती है।

जिले के सर्वोच्च प्रशासनिक अधिकारी का वेतन

DM अधिकारी का मासिक वेतन 75000 से 150,000 (अनुमानित) होता है, इसके इलावा DM को अन्य कई सरकारी सुविधाएं दी जाती है जैसे निज़ी आवास, गाड़ी और मेडिकल सुविधाएं।

शेयर करें

Leave a Comment