आयात और निर्यात किसे कहते हैं


इस पोस्ट में हम चर्चा करेंगे आयात और निर्यात के अर्थ के बारे में, आज हम जानेंगे कि आयात क्या होता है और निर्यात क्या होता है ?

आयात और निर्यात किसे कहते हैं

आप ने Import Export के बारे में तो जरूर सुना होगा, अगर नही सुना तो हम आपको बता दें कि Import Export को ही हिंदी में आयात निर्यात कहा जाता है अब यहाँ आप यह तो जान गए तो चलिए इसको अच्छे से उदहारण के साथ समझते है कि आयात निर्यात क्या होता है।

आयात क्या होता है?

किसी भी तरह की कोई वस्तु बाहर किसी देश यानि विदेश से ख़रीद कर भारत में लाने को आयात कहा जाता है। आयात को इंग्लिश में import कहा जाता है। इसका मतलब सिर्फ यही नही की किसी देश से कोई चीज़ खरीद कर लाना अगर हम अपने देश के किसी दूसरे राज्य से कुछ मंगवाते है तो उसको भी आयात ही कहा जाता है।

जैसे भारत के किसी भी एक राज्य से दूसरे राज्य में कोई वस्तु मंगवाई जाएगी तो उसको आयात कहा जाएगा। अगर हम सरल भाषा मे समझे तो किसी वस्तु को दूसरी जगह से मंगवाने की प्रक्रिया को आयात कहा जाता है।

निर्यात क्या होता है?

निर्यात आयात के बिल्कुल उलट प्रकिर्या है, इसमे अगर हम कोई वस्तु भारत से किसी अन्य देश में भेजते हैं तो उसको निर्यात कहा जाता है। निर्यात को इंग्लिश भाषा मे Export कहा जाता है। इस मे कोई भी देश भारत से कोई वस्तु खरीदता है तो यहाँ से भेजी जाने वाली वस्तु को निर्यात कहा जाता है।

अब आप ने यह तो समझ लिया कि आयात और निर्यात क्या होता है लेकिन आप यह भी जान लो कि अगर कोई वस्तु को भेजा जाता है तो वो दोनों प्रक्रिया से होकर पहुंचती है। जैसे भारत की तरफ से किसी वस्तु का आयात किया जाता है तो उसी वस्तु का दूसरे देश की तरफ से निर्यात किया जाता है। इस तरह अगर देखा जाए तो आयात और निर्यात एक साथ ही होता है।

आयात निर्यात का व्यापार

आयात निर्यात का व्यापार कानूनी प्रक्रिया है, अगर हम यह व्यापार करते हैं तो यह सिर्फ दो व्यक्तियों के बीच का व्यापार नही होता यह दो देशों के बीच का व्यापार होता है जिसको करने के लिए कानूनी रूप से अपने व्यापार का पंजीकरण करवाना होता है। इसके लिए आपको नीचे दिए गए पंजीकरण कराने होंगे उसके बाद आप आयात निर्यात का व्यपार शुरू कर सकते हो।

Shop Act Registration

No Objection Certificate

IE Code (Import Export Code)

MSME Registration

GST Registration

इन सभी पंजीकरण करवाने के बाद जब आपको permission मिल जाये तो आप आयात निर्यात का व्यापार शुरू कर सकते हो।

शेयर करें

Leave a Comment